it vashikaran is true or false

हम आपको आज बताते है की वशीकरण है क्या ? आप सब ने हज़ार बार सुना होगा वशीकरण शब्द और जानते भी होंगे की वशीकरण का मतलब | या फिर साधारण भाषा में कहो तो वशीकरण का मतलब किसी को वश में करना | परंतु सयाद आपको पता नही होगा की  वशीकरण वो अध्ययन है जो आज से नही बलिक सम्भोहन से पहले की है | अगर गौर किया जाये इतिहास के पृष्ठों पर तो वशीकरण विद्या  तंत्र मंत्र पर आधारित विद्या थी जिसे  से मेस्मेरिस्म का जनम हुआ उसके बाद ह्यनोटिसम या सम्भोहन  कह लेने  लगा | मेस्मेरिस्म या सम्भोहन जैसी अद्भुत ज्ञान का जन्म जाता ही वशीकरण है | इसलिए वशीकरण  Vashikaran भी उतना ही सच है जितना की सम्भोहन …ये बात और है की लोग इसका गलत तरीके से इस्तेमाल कर रहे है  ढोगी बाबा लोग| पुर्वजो के समय मैं वशीकरण विधया थी परतु उन्होंने कभी इसका इस्तेमाल गलत कामो के लिए  नही किया |लेकिन आज के दौर मैं  ढोगी बाबा लोग इसका गलत उपयोग कर रहे है | आज भाग दौर बहरी ज़िन्दगी में हर कोई जल्दी से जल्दी अपनी साम्यसा का समाधान चाहता है  कारण लोगो के पास टाइम की कमी का होना|

वशीकरण आज के वक़्त म युवा मैं बहुत क्रेज देखने को मिल रहा है करना नॉकरी का न मिलना या प्रेंमिका/प्रेमी  का न मिलना| कुछ लड़के /लड़कियां आज कल मस्ती के दौर में कुछ टाइम के बाद एक दूसरे के साथ छोड़ देते है और नए लोगो के साथ बिजी हो जाते है .लेकिन कुछ टूटे हुए दिल ऐसा नही कर  पाते इसलिए वो अपनी समयासा  का समां धान चाहते है  और कोई  ऐसा लॉ नही जो बिछड़े  प्यार को अलग करे | लड़के /गर्ल्स अपनी समय्या के समां धान के  लिए गूगल ये किसी और लोगो  का सहारा लेते है या गूगल पर सर्च करते है जहा उन्हें अनके प्रकार के कांटेक्ट नो और बाबा लोग के नाम मिल जाते है जिसमे लिखा होता आपकी सम्म्या का समा धान सिर्फ 4 min  मैं ..जब बॉय/ गर्ल उसे दिखती है तो तुरन्त कॉल कर देती है और बाबा लोग अपनी चिकनी चुपड़ती बताओं में उन्हें फांसः लेते है और समांधान के नाम पर खूब लूटते है और कहते है की काम न  होने पर पैसे वापिस …परतुं ऐसा होता नही है पैसा मिल जाने के बाद वो बाबा लोग पूछते तक नही है |अगर आप भी इस सम्मयi से परेशान है तो तो बाबा के चक्कर मैं न पड़े और किसी एक्सपर्ट वशीकरण की राइ ले  या Maharaj ji  जी से मिले जो आपकी समय्या को जानेगे और उसके बाद आपकी सम्म्या का समाधान करेंगे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2016 astroindianguru